December 25, 2018

2018, The year it was !

Smt. Narendra singh, Shri. Narendra singh, Chi. Aarika &  Chi.Anika. at Himalaya Joggers' park, Himalaya CHS, Ghatkopar west, Mumbai-400084




Chi. Naresh Bhanushali, a promising young mind, has several good attributes to his credit. Although he is a businessman, (He has Journalism degree to his credit)  his views of the happenings around are quite different.
               Always he will be in the fore front, and has got leadership qualities.
                   Venkatesh, is one among many, who comes to Himalaya Joggers' park daily.
Chi. Sahil and his friend
Shri.Tiwariji, Sahil, and play shuttle badminton in the evenings.
  

Shri. Dadaji
                                                 Shri. Purushottam bhai with his father.
                            Dadaji with Shri. Gayakvadji, & Son, Shri. Purushottam bhai





December 20, 2018

सत्संग, कही भी होसकती है !

"सत्संग" कही भी, कभी भी, होसकती है | लेकिन, भगवान की प्रति भक्ति, श्रद्धा, और विश्वास की कमी नहीं होनी चाहिए |  भगवान की स्मरण करने केलिए मंदिर हो तो अच्छा है | लेकिन, दिल में विश्वास, भक्ति, और प्रेम हो तो, एक सार्वजनिक उद्यान भी एक बेहतर जगह हो सकती है | इस का जीता जागता उदहारण है, मुम्बई के घाटकोपर (प) में स्तिथ "हिमालय जॉगर्स पार्क" की :

"हिमालय पर्वतीय को ऑपरेहटीव हाऊसिंग सोसायटी" के  औरतेँ,  इस बात को साबित करके दिखाया है | वैसे तो  रोज शाम वे सभी सदस्याएं  गार्डन  में मिलतेही  है | वहाँ, सब मिलकर "हनुमान चालीसा पढ़ते/अभ्यास" करते  है. राम नाम जाप, श्रीमद भगवद्गीता  पठन , भजन, आदि  भी होता है |


                                                                              
                                                           "Bachche man ke sachche
                                                             bachche man ke sachche
                                                             saari jag ki aankh ke tare
                                                             ye vo nanhe phul hai jo
                                                             bhagvaan ko lagte pyaare
                                                             bachche man ke sachche"
                                                             "Saari jag ki aankh ke tare
                                                             ye vo nanhe phul hai jo
                                                             bhagvaan ko lagte pyaare
                                                             bachche man ke sachche"
                                        


December 16, 2018

वर्ष २०१८ का डिसेम्बर १५ ता. सायंकाल, मुम्बई महानगर पालिका, (B.M.C) कचरा डब्बोंका आयोजन किया

वर्ष २०१८ का डिसेम्बर १५ ता. सायंकाल,  मुम्बई महानगर पालिका, कचरा डब्बोंका आयोजन किया | हिमालय पर्वतीय हाऊसिंग सोसाइटी के सभी कार्यकर्ता कचरा डब्बोंको लेकर चले | 

                                                                   श्री उमेश जी भी मौजूद थे